Home खास खबर पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती को राजद ने किसान दिवस के रूप में मनाया

पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती को राजद ने किसान दिवस के रूप में मनाया

1 second read
Comments Off on पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती को राजद ने किसान दिवस के रूप में मनाया
0
257

पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती को राजद ने किसान दिवस के रूप में मनाया ।

मधेपुरा से विकास कुमार की रिपोर्ट

मधेपुरा:-शहर के गौशाला स्थित कृष्ण मंदिर के प्रांगण में राजद जिलाध्यक्ष जयकान्त यादव के अध्यक्षता मैं आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राजद जिला अध्यक्ष जयकांत यादव ने कहा कि चौधरी चरण सिंह कहा करते थे देश की समृद्धि किसानों के खेत व खलियानों से गुजरती है, जबतक किसान की आर्थिक व्यवस्था ठीक नही होगी! तबतक देश की आर्थिक व्यवस्था ठीक नही होगी।यह आज की प्रासंगिक है, लेकिन वर्तमान सरकार किसानों की नही बल्कि उधोगपतियों की अर्थव्यवस्था ठीक करने में लगी हुई है।यही कारण है कि सरकार ने किसान विरोधी बिल लाकर किसान के खेत खलिहानों को उद्योगपतियों के हाथ गुलाम बनाने में तुली हुई है।उन्होंने ने कहा कि जबतक किसान बिल वापस नही होता है, तबतक राजद संघर्ष करेगी।
उन्होंने कहा कि जबतक किसान की सभी फसलों की कीमत न्यूनतम समर्थन मूल्य के रूप में नही मिलता है और सभी फसलों का क्रय सालों भर नही होगा तबतक किसानों के जीवन में समृद्धि नही आ सकती है।उन्होंने यह भी कहा कि चाहे सरकारी संस्थान हो या निजी व्यपारी हो सभी के द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्यों पर किसान की फसलों को क्रय करने की कानूनी वेवस्था की जाय।।

राजद ने1 चुनाव में घोषणापत्र के द्वारा युवाओं को नोकरी ,नियोजित शिक्षकों को समान काम के बदले सामान वेतन ,किसानों की ऋण माफी ,वृद्धपेंशन में बढ़ोतरी ,पंचायत प्रतिनिधियों के मानदेय में बढ़ोतरी आदि घोषणाओं की थी, जिस पर बिहार की जनता ने जनादेश दिया लेकिन सत्ता में बैठी सरकार जनादेश की चोरी कर फर्जी सरकार बनाई।अब राजद उन मुद्दों पर सरकार को घेरेगी ।।

उसने कहा कि भारतीय किसान को गाँव के दलालों द्वारा परेशान किया जाता है।वह साहूकार के संग्रहको से परेशान रहते हैं इसलिए वह अपने ही उपज का आनंद नही कर पाते हैं।

उसने कहा कि सरकार को आगाह किया जाता है कि किसानों के दमनात्मक करवाई बर्दास्त नही करेंगे और इसके लिए राजद किसानों के साथ खड़ी है
उसने कहा भारत
संरचनात्मक दृष्टि से गाँव का देश है, ओर सभी ग्रामीण समुदायों में अधिक मात्रा में कृषि कार्य किया जाता है

इसलिए भारत को कृषि प्रधान देश कहा1 जाता है।
लगभग 86०/० भारतीय लोग किसान मजदूर है।वे भारत देश के रीढ़ की हड्डी के समान है

मौके पर;- पूर्व विधायक परमेश्वरी प्रसाद निराला, प्रदेश महासचिव विजेंद्र प्रसाद यादव, पूर्व अध्यक्ष सह प्रदेश महासचिव देव किशोर यादव, शिक्षक नेता परमेश्वर यादव, किशोर कुमार, डॉ राजेश रतन मुन्ना,डॉक्टर सुरेश कुमार प्रधान महासचिव नजीरउद्दीन नुरी सत्यदेव मंडल, खेल प्रकोष्ठ के जिला उपाध्यक्ष विकास अकेला, ओम प्रकाश कुमार नगर अध्यक्ष भारत भूषण प्रखंड अध्यक्ष सुरेश यादव प्रखंड अध्यक्ष कमशः सुरेश यादव, अरुण यादव, प्रोफ़ेसर रिंकू कुमार,गजेंद्र राम,मुस्तकिन मुसो,रंजन यादव,नगर अध्यक्ष मुरलीगंज रणधीर यादव,आनंनदी मंडल,विश्वविद्यालय छात्र अध्यक्ष ईसा आलम,तेजस्वी फ्रेंड्स के अध्यक्ष वा संजोजक संदीप यादव, युवा अध्यक्ष रमण कुमार, युवा मुखिया संध के सयोजक अरबिंद कुमार, नेता पंकज कुमार, कोशी प्रमण्डल छात्र प्रभारी राहुल कुमार, ई मुरारी, जिला परिषद प्रतिनिधि डाक्टर बी के आर्यन,मोहम्मद लुकमान चंद्रहास यादव अमरेंद्र कुमार यादव अरुण कुमार कमल राम पैक्स अध्यक्ष ललन कुमार दिव्यांग प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष राजदीप यादव,किसान प्रकोष्ठ के अध्यक्ष प्रकाश कुमार पिन्टु,राजद नेता रुदनारायण यादव,बिटु कुमार, पप्पु कुमार, मो सुरज,विनय कुमार कनेडी,संजय यादव अधिवक्ता सुदिष्ट यादव,कापेश्वर सिंह निषाद, कुनंदन सिंह, मो आलम,युवा अध्यक्ष नगर मणिराज यादव,बलराम साह,राजकिशोर यादव, रमेश कुमार सिंह, विश्वनाथ यादव,वोदनाथ पासवान, गोसाईं ठाकुर,माधव कुमार संजय कुमार भारती,दिलीप कुमार पंचायत समिति जयकान्त कुमार,डॉक्टर विजय कुमार,मो वजीर आलम,वीरेंद्र चोपाल एव भाडी संख्या मैं किसान मोजुद थे

Load More Related Articles
Load More By Seemanchal Live
Load More In खास खबर
Comments are closed.

Check Also

मास्क चेकिंग के दौरान मची अफरातफरी।

मास्क चेकिंग के दौरान मची अफरातफरी। सुपौल बिहार। मामला सुपौल जिला के त्रिवेणीगंज अनुमंडलीय…