Home सहरसा आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम किया

आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम किया

2 second read
Comments Off on आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम किया
0
315

आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम किया

शुक्रवार की शाम सड़क हादसे में सिहौल के एक युवक की हुई मौत के बाद आक्रोशित लोगों ने शनिवार की सुबह सहरसा-सुपौल मुख्य मार्ग को बेला सिहौल के पास जाम कर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे लोग मृतक के परिवार को उचित मुआवजा देने की मांग कर रहे थे।

सहरसा-सुपौल मुख्य मार्ग दिनभर जाम रहने के कारण यात्रियों सहित आमलोगों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। जाम के कारण सड़कों पर गाड़ियों की लम्बी कतार लग गई। जाम की खबर मिलने के बाद सीओ अखिलेश कुमार जामस्थल पर पहुंचकर लोगों को समझाने का प्रयास किया लेकिन प्रदर्शन कर रहे लोग जामस्थल पर ही मृतक के परिवार को समुचित मुआवजा देने एवं दोषी चालक के विरुद्ध कारवाई की मांग कर रहे थे। सीओ ने प्रदर्शन कर रहे लोगों से एसडीओ को मोबाइल पर बात कर 48 घंटे के अन्दर मुआवजा राशि दिलाने का भरोसा दिलाया लेकिन प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना था कि पूर्व के एक सड़क हादसे मामले में अबतक राशि नहीं दी गई है। जिस कारण विश्वास नहीं हो रहा है। जाम के कारण यात्री हलकान थे।

मालूम हो कि प्रेमनगर बिहरा के पास शुक्रवार की शाम टेम्पो की ठोकर से साईिकल सवार युवक सिहौल गांव निवासी अजय शर्मा की मौत हो गई थी। शनिवार की सुबह पोस्टमार्टम होने के बाद युवक का लाश आते ही कोहराम मच गया। लोगों ने आक्रोशित होकर सड़क जाम कर प्रदर्शन करते हुए मुआवजा की मांग की मांग कर रहे थे।

बीडीओ असगर अली, सीओ अखिलेश कुमार एवं बिहरा थानाध्यक्ष रणवीर कुमार ने पूर्व सरपंच मो. सहादत अली, समिति दिनेश यादव एवं जितेन्द्र सिंह जीतु के साथ परिजनों से वार्ता कर एवं जिले के वरीय अधिकारियों से मोबाइल पर बातचीत कर दो दिन के अन्दर मुआवजा राशि देने के आश्वासन के बाद लगभग नौ घंटे से चले आ रहे सड़क जाम को हटाया। बीडीओ द्वारा तत्काल कबीर अंत्येष्टि की राशि परिवार को उपलब्ध कराई गई।

पुत्र की मौत से मां बदहवास: सड़क हादसे में अजय की मौत से सिहौल में मातम छा गया। बाबा नगरी देवघर पुजा अराधना के लिये गये अजय की मां शिरोमणि देवी एवं पिता परमेश्वरी शर्मा अपने छोटे पुत्र के मौत की खबर सुनकर रास्ते से ही घर वापस आ गया। पुत्र के लाश को देखते ही दोनों दहाड़े मारने लगा। मां एवं पिता की चीख एवं चीत्कार सुन सबों की आंखें नम हो गई। रोते बिलखते मां का यही कहना था कि अब वह अपने लाडले के बगैर कैसे रहेगी। आसपड़ोस के लोग ढ़ाढस बांधने में जुटे थे। मालूम हो कि बिहरा बाजार से साईिकल से घर जा रहे अजय को एक टेम्पो ने धक्का मार दिया और वह सामने से आ रही एक ट्रैक्टर के डाला के चक्का के नीचे दब गया जिसके उसे सदर अस्पताल लाया गया जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

स्रोत-हिन्दुस्तान

Load More Related Articles
Load More By Seemanchal Live
Load More In सहरसा
Comments are closed.

Check Also

पूर्णिया में 16 KG का मूर्ति बरामद, लोगों ने कहा-यह तो विष्णु भगवान हैं, अद्भुत मूर्ति देख सभी हैं दंग

पूर्णिया में 16 KG का मूर्ति बरामद, लोगों ने कहा-यह तो विष्णु भगवान हैं, अद्भुत मूर्ति देख…