Home सहरसा इंडिकेटर नहीं रहने से होते हैं दुर्घटना के शिकार

इंडिकेटर नहीं रहने से होते हैं दुर्घटना के शिकार

5 second read
Comments Off on इंडिकेटर नहीं रहने से होते हैं दुर्घटना के शिकार
0
327

इंडिकेटर नहीं रहने से होते हैं दुर्घटना के शिकार

प्रखण्ड के ग्रामीण क्षेत्र विभिन्न अलग-अलग सड़क के मोड़ के समीप इंडिकेटर नहीं रहने से वाहन चालकों को काफी परेशानी होती है। इस कारण रात के समय विशेष कर कुहासे के मौसम में दुर्घटना का भय बना रहता है। प्रखण्ड क्षेत्र में सहरसा-सिमरीबख्तियारपुर एन एच 107, बरियाही-सुपौल एचएस 66, बनगांव-गोरहो घाट पीडब्लूडी के सड़क में मोड़ के समीप कहीं भी इंडिकेटर पिलर गड़ा नहीं है। जबकि अन्य जिला क्षेत्र के सड़क के मोड़ के समीप करीब ढाई-तीन फीट ऊंचा काले-उजले रंग से रंगा सीमेंट का पिलर गड़ा रहता है। इससे इस रास्ते गुजरने बाली वाहन के चालक को वहां मोड़ होने का अंदाजा हो जाता है। इस क्षेत्र के सड़क के मोड़ पर भी दो दशक पूर्व तक सीमेंट का इंडिकेटर पिलर था। यह बतादे कि अव इसी रास्ते प्रतिदिन सैकड़ों वाहन सहरसा से सिमरी बख्तियारपुर, दरभंगा, पटना सहित अन्य गंतव्य स्थान की ओर जाती-आती है। कई वाहन चालकों ने बताया कि मोड़ के समीप इंडिकेटर तथा सड़क की हालत दुरुस्त करवाने के बदले पदाधिकारी सिर्फ वाहनों की जांच कर अपना कर्तव्य पूरा हुआ समझ लेते हैं।

स्रोत-हिन्दुस्तान

Load More Related Articles
Load More By Seemanchal Live
Load More In सहरसा
Comments are closed.

Check Also

अयोध्या में राम मंदिर को उड़ाने की मिली धमकी, जैश के आतंकी का ऑडियो आया सामने

अयोध्या में राम मंदिर को उड़ाने की मिली धमकी, जैश के आतंकी का ऑडियो आया सामने आतंकियों ने …