Home खास खबर Sadhu Yadav: 23 साल पुराने केस में लालू यादव के साले साधु यादव को मिली सजा, भेजा गया बेऊर जेल

Sadhu Yadav: 23 साल पुराने केस में लालू यादव के साले साधु यादव को मिली सजा, भेजा गया बेऊर जेल

6 second read
Comments Off on Sadhu Yadav: 23 साल पुराने केस में लालू यादव के साले साधु यादव को मिली सजा, भेजा गया बेऊर जेल
0
53

Sadhu Yadav: 23 साल पुराने केस में लालू यादव के साले साधु यादव को मिली सजा, भेजा गया बेऊर जेल

आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के कभी लाडले साले के रूप में पहचाने जाने वाले अनिरुद्ध प्रसाद यादव उर्फ साधु यादव को 23 साल पुराने केस में सजा मिली है. साधु यादव को बेऊर जेल भेजा गया है. बता दें इससे पहले 2022 में इस मामले में उन्हें तीन साल की सजा मिली थी

आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के साले अनिरुद्ध प्रसाद यादव उर्फ साधु यादव से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई है. साधु यादव को 23 साल पुराने एक केस में बेऊर जेल भेजा गया है. यह फैसला एमपी-एमएलए कोर्ट में सुनाया गया. कोर्ट ने सजा सुनाते हुए उन्हें बेऊर जेल भेज दिया है. गुरुवार को साधु यादव ने कोर्ट में आत्मसर्मपण कर दिया. बता दें कि पहले उन्हें इस मामले में तीन साल की सजा सुनाई गई थी. जिसके बाद उन्हें 2022 में मामले में बेल भी दे दी गई थी. आपको बता दें कि साधु यादव के खिलाफ 2001 में परिवहन कार्यालय में अधिकारियों को धमकाने का आरोप लगा था.

 

2001 का है मामला

दरअसल, विश्वेश्वरैया भवन में तत्कालीन परिवहन आयुक्त नरेंद्र कुमार सिन्हा बैठक ले रहे थे. इस दौरान 27 जनवरी, 2001 को साधु यादव अपने कुछ लोगों से घूस गया और अधिकारियों के साथ रंगदारी और दुर्व्यवहार करने लगा. जिसके खिलाफ नरेंद्र कुमार सिन्हा ने केस दर्ज कराया था.  इस मामले में 2022 को सुनवाई करते हुए एमपी-एमएलए कोर्ट ने साधु यादव को तीन साल की सजा सुनाई थी.

वहीं, मामले में बेल मिलने के बाद साधु यादव ने अदालत के इस फैसले को चुनौती दी थी. जिसे 2023 में एमपी-एमएलए कोर्ट में सुनवाई करते हुए न्यायाधीश विनय प्रकाश तिवारी ने उनकी याचिका को खारिज कर दिया था. इस फैसलो को चुनौती देते हुए साधु यादव ने पटना हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी. याचिका दायर करने के साथ ही साधु यादव ने यह भी अनुरोध किया था कि निचली अदालत से मिली जमानत को जारी रखा जाए. याचिका पर सुनवाई करते हुए अदालत ने उन्हें आत्मसमर्पण के लिए कहा था.

साधु यादव का राजनीतक सफर

बिहार में लालू-राबड़ी के 15 साल के शासनकाल में साधु यादव एक दबंग नेता के तौर पर उभर कर सामने आए. साधु यादव 2000-2004 तक गोपालगंज से विधायक भी रह चुके हैं, लेकिन जैसे ही बिहार से लालू-राबड़ी का राज गया, साधु यादव की राजनीतिक करियर पर जैसे विराम लग गया. सत्ता से हटते ही लालू-राबड़ी का रिश्ता साधु यादव से बिगड़ गया. दरअसल, 2009 में लालू यादव ने गोपालगंज सीट लोक जनशक्ति पार्टी को दे दी थी. जिससे साधु यादव नाराज हो गए और फिर उनका रिश्ता लालू परिवार से खराब होता चला गया. दरअसल, साधु यादव के खिलाफ कई आपराधिक मामले कोर्ट में लंबित है.

Load More Related Articles
Load More By Seemanchal Live
Load More In खास खबर
Comments are closed.

Check Also

‘मेरी दुल्हन कहां…ये लड़की कौन…’ जयमाल की रस्म के दौरान दूल्हे ने काटा हंगामा

‘मेरी दुल्हन कहां…ये लड़की कौन…’ जयमाल की रस्म के दौरान दूल्हे ने काटा हंगामा Bihar News: ब…